चावल के पापड़ बनाने की विधि

चावल के पापड़ बनाने की विधि इन हिंदी / आसानी से बनायें

आपने चावल के पापड़ तो जरुर खाए होंगे, तो चलिए आज हम चावल के पापड़ बनाने की विधि सीख लेते हैं।

एक बार चावल के पापड़ बनाने के बाद आप सालों तक इसको रख कर खा सकते हैं । नाश्ते के रूप में उत्तर भारत में इसका काफी प्रयोग होता है।

चावल के पापड़ बनाने की विधि

इस पापड़ की सबसे खास बात है, कि ना तो इसको  बेलना पड़ता है, और ना ही इसमें पूरी मेकर या पापड़ मेंकर की जरूरत पड़ती है।

इसको बनाना काफी आसान पड़ता है, इसके लिए अत्याधिक कोई विशेष सामग्री का प्रयोग नहीं होता है। आप अपने किचन में चावल के पापड़ बनाने का सामान पहले से ही मौजूद पाएंगे।

चावल के पापड़ बनाने की विधि में इस्तेमाल आवश्यक सामग्री

चावल -3 कटोरी
नमक -स्वादानुसार
जीरा-1 चम्मच
पापड़ खार- 1 चम्मच

चावल के पापड़ बनाने की विधि

सबसे पहले आप चावल को एक बड़े बर्तन में डालकर उसको दो-तीन पानी से अच्छी तरह से साफ कर लेंगे, चावल को सात-आठ घंटे के लिए भीगने के लिए रख देगें ।

चावल को भिगोने के बाद साफ़ कर लें

जब चावल अच्छी तरीके से फूल जाए तब आप इसके पानी को अलग कर लेंगे, और इसको मिक्सी में पीसकर इसका पेस्ट तैयार कर लेंगे, अगर मिक्सी मौजूद ना हो तो आप सिलवट्टे पर पीस सकते हैं।

अब आप गैस पर एक बड़ा बर्तन रखकर उसमें पानी उबालने के लिए रख दीजिए। बर्तन में लगभग आधे बर्तन तक पानी भर कर लेना है।

अब हम इसमें नमक, पापड़ खार और जीरा डालेंगे, इन सभी चीजों को अच्छी तरह से मिला देंगे, अब इस बर्तन में चावल का घोल धीरे-धीरे कलछी से चलाते हुए पानी में मिक्स करेंगे, और इसको हमें लगातार चलाते रहना है, और गैस की आज को मीडियम रखना है।

चावल के पापड़ बनाने की विधि

साथ ही हमें इसको लगातार इसको मिक्स करते रहना है, नहीं तो उसमें गुठलियां पड़ जाएगी । अब इसको हमें हाई फ्लैम पर 4-5 मिनट तक चलाते हुए पकाना है । इसके बाद इसे ढककर 10 मिनट तक पकने देना है,और बीच-बीच में इसमें चलाते रहना है।

इस बात का विशेष ध्यान रखेंगे, कि इसमें  गुठलियां ना पड़ने पाए।अब इस के द्वारा हम पापड़ बनाने की शुरुआत कर सकते हैं।

इसके लिए हमें प्लास्टिक की बड़ी सीट लेनी है। जिसकी लंबाई और चौड़ाई कम से कम दो-तीन मीटर होनी चाहिए। जिसको हम कहीं खुले में जहां पर धूप आती हो वहां पर इसको बिछा देंगे।

अब इस पर सरसों का तेल हल्का-हल्का लगा लेंगे, जो हमने घोल बनाया था। उसको आधी चमची से धीरे-धीरे फैला देंगे, फैलाते समय इस बात का विशेष ध्यान दें, कि ये ना अधिक मोटा होना अधिक पतला होना चाहिए,

यह सूखने के बाद काफी पतला हो जाता है। हम चार-पांच घंटे तक इसको ऐसे ही पड़े रहने देंगे, फिर इसको पलट देंगे,यही प्रक्रिया हमको तीन से चार दिन लगातार धूप में करनी होगी। जब पापड़ अच्छे से सूख जाए। तब आपके पापड़ तलने के लिए तैयार हो जाते है।

इसको तलने के लिए हम कढ़ाई में तेल चढ़ा कर गैस पर रखेंगे। इसमें तेल आधी कढ़ाई या अपने जरूरत के अनुसार रखेंगे। तेल को एक बार ठीक से गर्म होने दें, फिर उसके बाद उसमें एक-एक पापड़ डालेंगे। यह पापड़ तलने में ज्यादा समय नहीं लगेगा,या तुरंत डालते ही अपना आकार बड़ा कर लेगा, और आपके स्वादिष्ट पापड़ तैयार हो जाएंगे ।

आप चाहे तो दो-तीन दिन के लिए एक साथ पापड़ तल कर रख सकते हैं, नहीं तो जब आपको खाना हो तब आप अपने पापड़ तल कर खा सकते हैं, और दूसरों पापड़ की तुलना में या पापड़ बनाना बेहद आसान माना जाता है, क्योंकि इसको बेलने का झंझट नहीं है, और यह आसानी से सूख भी जाता है।

ध्यान देने योग्य बातें

इस बात का विशेष ध्यान दें, की पापड़ ठीक से सूख गए हो नहीं तो इसके अंदर नमी होने पर यह ठीक से तलने पर फूलेगें नहीं।

चावल के पापड़ बनाने की विधि में जरूरी बातें

घोल को गर्म पानी में डालते हुए इस बात का खास ध्यान रखें कि लगातार चलाते रहें, नहीं तो इसमें गुठलियों पड़ जायेगीं ।

पापड़ को सुखाने के लिए साफ पन्नी का इस्तेमाल करें, नहीं तो आपके पापड़ में धूल के कण आ सकते हैं। जिससे आपके सारे पापड़ खराब हो जाएंगे।

पापड़ को स्टोर करने के लिए किसी बड़े कंटेनर का प्रयोग करें, छोटी जगह रखने से यह टूट जाएंगे। इस बात का भी ध्यान रखें की पापड़ को दबाकर ना रखें।

पापड़ को पन्नी पर फैलाते समय इस बात का ध्यान रखें, कि पापड़ को ज्यादा पतला ना करें, क्योंकि या सूखने के बाद काफी पतला हो जाता है। और बहुत आसानी से टूट जाता है।

सीखें : मटर पनीर की रेसिपी

आज मैंने, आपको चावल के पापड़ बनाने की विधि बताई है। मैं अनीता आशा करती हूँ, कि आपको यह पोस्ट बहुत अच्छी लगी होगी आगे भी आपका साथ ऐसे ही बना रहेगा।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *